BPSC 70th Test Discussion New Batch will be Started From 5 June 2024. Mode- Offline + Conference. OFFLINE CENTRES- PATNA & PURNEA

भारत रत्न से सम्मानित

By - Gurumantra Civil Class

At - 2024-02-12 08:59:52

                   भारत रत्न से सम्मानित 

• 1954 ई. :-

(क) सी. राजगोपालाचारी (समाज सेवा ) :- एक भारतीय स्वतंत्रता कार्यकर्ता ,राजनेता , और वकील |राजगोपालाचारी स्वतंत्र भारत के एकमात्र और अंतिम भारतीय गवर्नर जनरल थे |

(ख) सर्वपल्ली राधाकृष्णन (दार्शनिक ):- एक महान शिक्षक , 1962ई.से, उनका जन्मदिन 5सितम्बर को भारत में ‘शिक्षक दिवस’ के रुप में मनाया जाता है | भारत के पहले उप-राष्ट्रपति |

(ग) चंद्रशेखर वेंकटरमण (विज्ञान ):- प्रकाश की बिखरने और प्रभाव की खोज पर अपने काम के लिए व्यापक रुप से जाना जाता है ,जिसे ‘रमन-बिखराव’ के रुप में जाना जाता है |

• 1955ई. :-

(क) भगवान दास (ब्रह्माविद्यावादी):- 1921ई. में महात्मा गाँधी काशी विद्यापीठ की सह स्थापना की | उन्होंने बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय की स्थापना में मदनमोहन मालवीय की सहायता भी की |

(ख) एम.विश्र्वेश्र्वरैया ( विज्ञान , अभियंता ) :- इनका जन्मदिन 15सितम्बर ,भारत में , ‘अभियंता दिवस’ के रुप में मनाया जाता है |

(ग) जवाहरलाल नेहरु (समाज सेवा , राजनेता ) :- स्वतंत्रता के बाद भारत के प्रथम और लम्बे समय तक का प्रधानमंत्री(1947-64) थे |

• 1957ई. :-

  गोविन्द बल्लभ पन्त (समाज सेवा ):- उत्तर प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री(1950-54)| स्वतंत्रता सेनानी , भारत के चौथे गृहमंत्री के रुप में उनका मुख्य योगदान भारत को भाषा के अनुसार राज्यों में विभक्त करना तथा हिंदी को भारत की राजभाषा के रुप में प्रतिष्ठित करना था |

• 1958ई. :-

धोंडो केशव कर्वे (समाज सेवा ) :- सामाजिक सुधारक और शिक्षक , 1916 ई. में श्रीमती नाथीबाई दामोदर थ्रेक्रसे महिला विश्वविद्यालय शुरू किया |

• 1961ई.

(क) बिधान चन्द्र रॉय (चिकत्सा ):- एक प्रतिष्ठित चिकत्सक और एक स्वतंत्रता सेनानी थे , 1948ई. से 1962ई. तक बंगाल के मुख्यमंत्री थे | 1 जुलाई को उनका जन्मदिन देशभर में ‘राष्ट्रीय डॉक्टर दिवस’ के रुप में मनाया जाता है |

(ख) पुरुषोत्तम दास टंडन (समाज सेवा ) :- एक स्वतंत्रता , जिन्हें राजर्षि का ख़िताब दिया गया था |उन्हें हिंदी को अधिकारिक भाषा बनाने के अभियान के लिए याद किया जाता है |

• 1962ई. :-

(क) राजेंद्र प्रसाद (समाज सेवा ) :- गणतंत्र भारत के प्रथम राष्ट्रपति (1950-62) , असहयोग आंदोलन में शामिल स्वतंत्रता सेनानी , एक महान विद्वान् , एक वकील और एक राजनेता थे |

• 1963ई. :-

(क) जाकिर हुसैन (समाज सेवा ) :- 1962ई. -67ई. तक भारत के उप-राष्ट्रपति और 1967- 69ई. तक राष्ट्रपति रहे |1948ई. से 56 ई. तक अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के कुलपति भी थे |

(ख) पांडुरंग वामन काणे (साहित्य सेवा ):- एक संस्कृत विद्वान और साथ ही इंडोलोजिस्ट भी थे , उनके अपने स्मारकीय कार्य “धर्मशास्त्र का इतिहास :भारत में प्राचीन और मध्यकालीन धार्मिक और नागरिक कानून” के लिए याद किया जाता है |

• 1966ई. :-

लाल बहादुर शास्त्री (समाज सेवा ) :- 1964ई. से 66ई. तक भारत के प्रधानमंत्री थे ,जिन्होंने 1965ई. में पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध में राष्ट्र की अगुआई की | उनका नारा “जय जवान, जय किसान” ,आज भी बहुत लोकप्रिय है |

• 1971ई.:-

  इंदिरा गाँधी (समाज सेवा ):- 1966 – 70 ,80 -84 तक ,भारत की प्रधानमंत्रीरही है | 1971ई. के युद्ध में भारत-पाकिस्तान युद्ध में बांग्लादेश को मुक्त कराया |

• 1975ई. :-

वी.वी.गिरि (समाज सेवा ) :- एक विख्यात स्वतंत्रता सेनानी , भारत के पहले कार्यवाहक अध्यक्ष और 1969 ई. में राष्ट्रपति के रुप में चुनाव |

• 1976ई. :-

  के.कामराज (समाज सेवा ) :- एक स्वतंत्रता सेनानी ,1954 -57ई.,57ई. – 62 ई. और 62-63ई. तक , तमिलनाडु के मुख्यमंत्री रहे |

• 1980ई. :-

   मदर टरेसा (समाज सेवा) :- अपने धर्मार्थ कार्यों के लिए उल्लेखनीय , 1979 ई. में नोबेल शांति पुरस्कार मिला , पोप फ्रांसिस द्वारा 4सितम्बर 2016ई. को उन्हें संत घोषित किया |

• 1983 ई. :-

विनोबा भावे (समाज सेवा ) :- एक स्वतंत्रता सेनानी और सामाजिक सुधारक |भूदान आंदोलन के लिए प्रसिद्ध | 1958ई. में , उन्हें रमन मैगसेसे पुरस्कार से सम्मानित |

• 1987ई. :-

खां अब्दुल गफ्फार खां (समाज सेवा ) :- एक प्रमुख स्वतंत्रता सेनानी जिसने 1929ई. में खुदाई खिदमतगार की स्थापना की , महात्मा गाँधी के कट्टर अनुयायी जिन्हें सीमांत गाँधी के नाम से भी जाना जाता है |

• 1988ई. :-

एम.जी.रामचंद्रन (समाज सेवा ):- अभिनेता से नेता बने , 1977-80,80-84और 85-87 के दौरान तमिलनाडु के मुख्यमंत्री रहे |

• 1990 ई. :-

(क) बी.आर अम्बेदकर (समाज सेवा ) :- समाजिक भेदभाव के खिलाफ अभियान में जोरदार सक्रिय , आजादी के बाद जिनका भारतीय संविधान में पारुपन एवं देश के पहले कानून मंत्री |

(ख) नेल्सन मंडेला (समाज सेवा ):- दक्षिण अफ्रिका के विरोधी वर्णभेद आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका जो 1994-99ई. तक वहां के राष्ट्रपति भी रहे | इसे नोबेल शांति पुरस्कार भी मिला जिसे दक्षिण अफ्रीका का महात्मा गाँधी भी कहाँ जाता है |

• 1991ई. :-

(क) राजीव गाँधी (समाज सेवा):- 1984-89ई. तक , अब तक भारत के सबसे कम उम्र के बनने वाले प्रधानमंत्री|

(ख) वल्लभ भाई पटेल (समाज सेवा ):- भारत का बिस्मार्क , लोहपुरुष ,पहले गृह मंत्री आजाद भारत के |

(ग) मोरारजीदेसाई (समाज सेवा ):- 1977ई. से 79ई. तक भारत के प्रधानमंत्री , निशान-ए-पाकिस्तान ,पाकिस्तान के उच्चतम नागरिक पुरस्कार प्राप्त एकमात्र भारतीय |

• 1992ई.:-

(क) अबुल कलाम आज़ाद (समाज सेवा ):- एक स्वतंत्रता सेनानी और पहले शिक्षा मंत्री |11नवम्बर को , इनके जन्मदिन को राष्ट्रीय शिक्षा दिवस के रुप में मनाया जाता है |

(ख) जे.आर.डी.टाटा (समाज सेवा ):- उद्योगपति और परोपकारी ,जिन्होंने एयर इंडिया की स्थापना की साथ ही टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज , टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च आदि की स्थापना की |

(ग) सत्यजित रॉय (कला ):- सबसे महान फिल्म निर्माताओं में से एक ,जिन्हें 1984ई. में दादा साहब फाल्के पुरस्कार प्राप्त किया |

• 1997 ई. :-

(क) गुलजारी लाल नंदा (समाज सेवा ):- योजना आयोग के दो बार उपाध्यक्ष ,1964ई. और 1966ई. में भारत के अंतरिम प्रधानमंत्री के रुप में भी कार्य किया |

(ख) अरुणा आसफ अली (समाज सेवा ):- स्वतंत्रता सेनानी , 1958ई. में दिल्ली के पहले महापौर बने |

(ग) ए.पी.जे.अब्दुल कलाम (विज्ञान):- एक प्रशंसित एयरोस्पेस और रक्षा वैज्ञानिक |इंटीग्रेटेड गाइडेड मिसाइल डेवेलोपमेंट प्रोग्राम के पीछे इनका हाथ था |2002-07ई. तक भारत के राष्ट्रपति रहे |

• 1998ई. :-

(क) एम.एस.सुब्बुलक्ष्मी (कला .):- कर्नाटक शास्त्रीय गायिका ,राँन मैगसेसे पुरस्कार प्राप्त पहली भारतीय |

(ख) चिदम्बरम सुब्रमण्यम (समाज सेवा ):- 1964ई. -66ई. के बीच भारत के कृषि मंत्री , हरित क्रांति के प्रति महत्वपूर्ण योगदान |

• 1999ई. :-

(क) जयप्रकाश नारायण (समाज सेवा ):- आपातकाल के विरुद्ध जोरदार आंदोलन के कारण लोकनायक के नाम से प्रसिद्ध

(ख) अमर्त्य सेन (विज्ञान :अर्थशास्त्र):- एक प्रसिद्ध अर्थशास्त्री जिन्हें 1998ई. में नोबेल मेमोरियल पुरस्कार प्राप्त किया |

(ग) गोपीनाथ बारदोलोई (समाज सेवा ):- 1946ई. -50ई. के बीच असम के मुख्यमंत्री , विभाजन के दौरान असम को भारत के साथ एकजुट रखने में प्रमुख भूमिका |

(घ) रविशंकर (कला) :- अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसित सितार वादक ,उचार ग्रैमी पुरस्कार प्राप्त , जोर्ज के कई धुनों में सहयोग |

• 2001ई. :-

(क) लता मंगेशकर (कला) :- मधुर आवाज के कारण इन्हें भारत की नाइटिंगेल कहाँ जाता है |उन्होंने 36भाषाओँ में गौरव हासिल किया है ,उन्होंने 1989ई. में दादा साहेब फाल्के पुरस्कार जीता था |

(ख) बिस्मिल्लाह खां (कला) :- शहनाई वादक , इन्होंने न केवल भारत में बल्कि दुनिया भर में प्रसिद्धि हासिल की |शहनाई को लोकप्रिय बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका |

• 2009ई. में :-

भीमसेन जोशी (कला ) :- कर्नाटक राज्य से प्रशंसित गायक ,जिन्हें 1998ई. में संगीत नाटक अकादमी फैलोशिप प्राप्त किया |

• 2014ई. में :-

(क) सी.एन.राव (विज्ञान):- एक प्रोफेसर और रसायनज्ञ ,उन्होंने स्पेक्ट्रोस्कोपी , आणविक संरचना , ठोस राज्य और सामग्री रसायन विज्ञान में काफी काम किया है |

(ख) सचिन तेंदुलकर (खेल) :- अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 100 शतक ,30000 रन बनाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज

• 2015ई. में :-

(क) मदन मोहन मालवीय (समाज सेवा ):- इन्होंने बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय की स्थापना की और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष के रुप में भी काम किया |1924ई. -46ई. तक ,वह हिंदुस्तान टाइम्स के अध्यक्ष भी रहे |

(ख) अटल बिहारी वाजपेयी (समाज सेवा ):- ये 1996ई.,98ई. और 1999-04ई. तक भारत के प्रधानमंत्री रहे |1977ई. -79ई. के बीच वह विदेश मंत्री थे |1994ई. में उन्हें सर्वश्रेष्ठ संसदीय पुरस्कार दिया गया था |

          *संकलनकर्ता – चन्द्रशिव कुमार *

 

Comments

Releted Blogs

Sign In Download Our App